Kamal Haasan – A Universal Hero of Indian cinema

कमल हासन  को सिर्फ एक अभिनेता के रूप में ही नहीं जाना जाता बल्कि वह एक डांसर, फिल्म निर्देशक, स्क्रीन राइटर , प्रोड्यूसर, प्लेबैक सिंगर और पॉलिटिशन भी है। यह एक ऐसा नाम है  जिसमें अपने अभिनय के सफर की शुरुआत तमिल सिनेमा से  की और इसके बाद उन्होंने तेलुगू, मलयालम, कन्नड़ , हिंदी और बंगाली में कई  सुपर हिट  फिल्में  दी।

कमल हसन का जन्म 1954 में हुआ था और उन्होंने मात्र 6 वर्ष की उम्र में ही बाल कलाकार के रूप में तमिल सिनेमा में अपनी पहली फिल्म “कलथुर कन्नम्मा” की थी और जिसके लिए उन्होंने राष्ट्रपति का स्वर्ण पदक भी जीता था। कमल हासन की प्रोडक्शन कंपनी, राज कमल फिल्म्स इंटरनेशनल ने हिंदुस्तान को कई बेहतरीन फिल्मे दी हैं।

Early Life –  कमल हासन का जन्म 7 नवम्बर 1954 को एक तमिल ब्राह्मण परिवार के सबसे छोटे पुत्र के रूप में रामनाथपुरम, मद्रास जिले में हुआ था, उनके पिता डी श्रीनिवासन जो एक वकील होने के साथ – साथ एक स्वतंत्रता सेनानी भी थे और माता राजलक्ष्मी एक ग्रहणी थी। कमल के दो बड़े भाई ( चारु हासन और चंद्रा हासन ) दोनों ही फ़िल्मी दुनिया के बहुत बड़े नाम हैं और उनकी बड़ी बहन ( नलिनी ) एक प्रसिद्ध भरतनाट्यम नृत्यांगना हैं। कमल हासन का असली नाम पार्थसारथी  श्रीनिवासन था, जिसको उनके पिता ने बाद में कमल का नाम दिया।  
 
पिता से प्रेरित होकर पार्थसारथी ने मात्र 4  वर्ष की उम्र में ही तमिल फिल्म में बाल कलाकार के रूप में ही अपना ऐसा अभिनय दिखाया कि उनको उसी वर्ष राष्ट्रपति पुरुस्कार से नवाज़ा गया।  फिर तो उन्होंने मात्र एक साल में ही 5 फिल्मो में अपने अभिनय से सभी का दिल जीत लिया था। 

उसके बाद वह अपनी पढ़ाई में व्यस्त हो गए, कमल हासन की प्रारंभिक पढ़ाई परमाकुडी में हुयी थी उसके बाद वह सभी मद्रास आ गए।
Professional Life –  अपनी पढ़ाई के साथ – साथ कमल ने अपने द्वारा प्रोत्साहित होने पर एक थिएटर कंपनी ज्वाइन कर ली थी जहाँ पर उनके अदाकारी के हुनर को और निखारा गया।  उसके बाद 1970 से 1972 तक उन्होंने डांसर के तौर पर फिल्मे की।  फिर 1973 में उन्होंने फिल्म के हीरो के तौर पर तमिल फिल्म आरंगेत्रम की थी जिसमे उनका काम बेहद पसंद किया गया था।  

1973 से 1975 तक 6 -7  फिल्मे की उन्होंने , यह वह समय था जहाँ पर बहुत संघर्ष करना पड़ा कमल को और उन्हें 2  बार फिल्म फेयर अवार्ड भी मिला। 1976 से उनके करियर का सफर दिन प्रतिदिन आगे ही बढ़ता  चला गया। कमल हासन ने कई बेहतरीन फिल्मे दी। उन्होंने रोमेंटिक , संजीदा , हास्य, रहस्य्मयी, ऐतिहासिक और कई फिल्मे की, जिन सभी में उनकी अदाकारी ने कुछ अलग ही अंदाज़ पेश किया है। 
 
आज तक वह फिल्मों में उसी हुनर को इस परफेक्शन के साथ उतारते हैं कि देखने वाला बस देखता ही रह जाता है।  2020 में उनकी 3 फिल्मे आने वाली थी।
Personal Life – कमल  हासन के दो विवाह हुए , पहला वाणी गणपति से 1978 में, जो एक क्लासिकल नृत्यांगना हैं।  यह विवाह सिर्फ 10 वर्षों तक ही रहा और उनका तलाक 1988 में हो गया था।  उसके बाद कमल हासन ने सारिका से विवाह किया 1988 में, जो एक प्रसिद्ध अभिनेत्री भी हैं और यह विवाह 2004 में आते – आते टूट गया। 
 
कमल हासन की दो पुत्रियां है – श्रुति हासन और अक्षरा हासन , यह दोनों भी फ़िल्मी दुनिया में अपना एक नाम बना रही हैं।  कमल हासन को किताबें पड़ने का बहुत शौक है, जब भी उनके पास समय होता है वह पड़ना शुरू कर देते हैं। कलाकारों में उन्हें नागेश , राजेश खन्ना  श्रीदेवी बेहद पसंद हैं।
Awards –  कमल हासन ने अब तक 23 अवार्ड्स जीते हैं।  उन्हें 2 राष्ट्रीय और बाकि के फिल्म फेयर अवार्ड मिले हैं। 

FilmFare Award – बेस्ट एक्टर के लिए फिल्म  कन्याकुमारी (1975 ), पुष्पक विमान (1988 ), अपूर्वा रागंगल (1976), ओरु ऊधप्पु कान सिमितुगिरधु (1977 ) , पाथिनारु वायथिनिले ( 1978 ), सिगप्पु रोजक्कल (1979 ), राजा  परवाई (1982 ), हे राम (2001), आकलि राजयम् (1982 ), सगरा संगमम् (1984 ), इन्द्रू चन्द्रुडु (1990 ), सागर (1986 ), गुना (1992), थावर मगन  (1993 ) 
 
  National Award –  यह पुरुस्कार कमल हासन को ४ बार अपनी अलग – अलग फिल्मों के लिए बेस्ट एक्टर की कैटेगरी में मिला , इंडियन (1996 ) , थावर मगन (1992 ), नायकन (1987 ) और मूंदराम पिराई (1982 ) में।
 
 Honours –  कमल हासन को अपने अभिनय और दक्षिण भारतीय फिल्मों को एक नयी दिशा देने के लिए भारत के सम्मानीय पुरुस्कार से नवाज़ा गया है।  पहला पद्म श्री जो उन्हें 1990 में दिया गया और दूसरा पद्म भूषण जो उन्हें 2004 में मिला। 

Films –  Kalathur Kannamma (1959), Meethi Meethi Baatein (1977), 16 Vayathinile (1977), Satyavan Savithri (1977), Idhi katha kaadu (1979), Aladdin and the wonderful Lamp (1979), Ninaithale Inikkum (1979), Do dil diwane (1981), ek dujje ke liye (1981), Mr. & Mrs malini Iyer (1981), Meendum kokila (1981), Yah to kamal ho gaya (1982), Afsana do dilon ka (1982), Genehgar the criminal (1982), Pyara tarana (1982), Vazhvey Maayam (1982), Shakala kala Vallavan (1982), Zara si jindagi (1983) Sadma (1983), Vikram (1986), Vetri Vizha (1989), Chanakyan (1989), Moondram Pirai (1989), Nayakan (1987), Hindustani (1996), Indian (1996), Virasat (1997), chachi 420 (1997), Hay Ram (2000), Aneb Sivam (2003), Mumbai express (2005), Raghavan (2007), Vattaiyadu Villaiyadu (2007), Indian 2 (2020), Sabash Naidu (2020), Bharateeyudu 2 (2020), Vishwroop (2019), Cheekati Raajyam (2015), Uttama Villain ( 2015), 3G Love (2013), Four Friends (2012), 500BC (2011), Eenadu (2009) 

Spread the love
loading...

One thought on “Kamal Haasan – A Universal Hero of Indian cinema

Leave a Reply

Your email address will not be published.