Movienurture: Best telugu movies2020

Best 10 Telugu Movies to watch in 2020 – Part 2

2020 में ऐसी कुछ चंद फिल्मे, जिन्होंने हमारा भरपूर मनोरंजन किया है चाहे वह किसी भी भाषा की हो। ऐसी ही कुछ सुपर हिट तेलुगु फिल्में लेकर हम आये हैं जिन्होंने इस वर्ष सभी को अपने दर्द कम करने ही हिम्मत प्रदान की है।

Movienurture:Uma Maheshwara Ugra Roopasya

Uma Maheshwara Ugra Roopasya (ఉమా మహేశ్వర ఉగ్రా రూపస్య ) उमा महेश्वरा उग्र रूपा एक तेलुगु फिल्म जो सिनेमा घरों में 30 जुलाई 2020 को आयी और इस फिल्म को निर्देशित किया है Maha Venkatesh ने। यह फिल्म मलयालम फिल्म उमा महेश्वर उग्रा रूपसय का रीमेक है और इस फिल्म में अभिनय किया है सत्यदेव, चंदना कोप्पसीसेटी, नरेश,सुहास और रूप कोडुवयूर ने।

कहानी होती है एक साधारण से युवक उमा महेश्वरा राव से जो पेशे से एक फ़ोटोग्राफर है और अपनी नौकरी से खुश होता है और जिसकी आँखों में मीठे छोटे- छोटे से सपने होते हैं, वह उस लड़की से शादी करना चाहता है जिससे वह प्यार करता है, अपने वृद्ध पिता की अच्छी तरह से देखभाल करना चाहता है और सम्मान के साथ एक संतुष्ट जीवन भी जीना चाहता है। लेकिन क्या होता है जब वह जो कुछ भी सपने देखता है उसका उल्टा ही हो जाता है, कैसे इन सब से उसका पूरा जीवन ही बदल जाता है और किस तरह से वह अपने देखे गए सारे सपने पुरे कारण की कोशिशे करता है।

Movienurture:Ala Vaikunthapurramuloo

Ala Vaikunthapurramuloo ( అలా వైకుంఠపురములు ) –  अला वैकुंठपूर्मुलु फिल्म 12 जनवरी 2020 को रिलीज़ हुयी और इसका निर्देशन Trivikram Srinivas ने किया। इस फिल्म में अभिनय आलु अर्जुन, पूजा हेगड़े , निवेथा, सुशांत, वैषणवी और तब्बू ने किया है।

फिल्म की कहानी एक मध्यम परिवार के हर पहलू की और इंगित करती हुयी दिखती है। कहानी शुरू होती है मध्यम परिवार के बंटू से जिसके पिता हमेशा उसको नीचे दिखने की कोशिश में लगे रहते हैं और उसकी तुलना हमेशा अपने कंपनी के मालिक के बेटे राज मनोहर से करते रहते हैं। पिता के इस व्यव्हार से परेशां बंटू और पिता का अक्सर झगड़ा होता रहता है मगर जब बंटू को अपने पिता के एक राज का पता चलता है तो वह किस तरह से रिएक्ट करता है , और क्या वह अपने पिता का साथ देता है या फिर नाराज़गी के चलते उन्हें छोड़ देता है।

Movienurture: అతడే శ్రీమన్నారాయణ

Athade Srimannarayana (అతడే శ్రీమన్నారాయణ ) –  अथदे श्रीमन्नारायण तेलुगु फिल्म 27 दिसम्बर 2019 को रिलीज़ हुयी और इसका निर्देशन Sachin Ravi ने किया। इस फिल्म में अभिनय रक्षित शेट्टी, बालाजी मोहर, अच्युत कुमार, प्रमोद शेट्टी और शानवी श्रीवास्तव ने किया है।

फिल्म की कहानी एक ऐसे छोटे से गांव पर आधारित है जहाँ पर प्राचीन ख़ज़ाने की चोरी हो जाती है और एक सामंत भी मारा जाता है। इसकी तहकीकात करने पुलिस की एक टीम शहर से आती है और वह 15 वर्षों से चल रहे एक परिवार के सौतेले भाइयों के बीच शीट युद्ध में फस जाते हैं। क्या वह ख़ज़ाने का पता लगा पाएंगे? क्या इस युद को ख़तम करेंगे या फिर यह ऐसे ही कई और वर्षों तक चलता रहेगा एक मात्र सिंहासन के लिए।

Movienurture: Solo Brathuke So Better

Solo Brathuke So Better (సోలో బ్రాతుకే సో బెటర్) –  सोलो ब्रैथुके सो बेटर तेलुगु फिल्म 25 दिसम्बर 2020 को तेलुगु सिनेमा में रिलीज़ हुयी और इसका निर्देशन Subbu ने किया। फिल्म में साईं धर्म तेज, राव रमेश, नाभा नतेश,अजय,सत्या और वेनिला किशोर ने अभिनय किया है।

फिल्म की कहानी एक ऐसे नौजवान के इर्दगिर्द घूमती है जो सभी रिश्तों से दूर अकेला रहने में और जीने में विश्वास करता है। विराट (साई धर्म तेज) एक गर्मजोशी से भरा हुआ नौजवान है जो अपने दिल और आत्मा दोनों में बहुत विश्वास रखता है। उसका मानना है कि जीवन में रिश्ते कोई मायने नहीं रखते हैं, बस साथ चल रहे हैं और यह आज़ादी के सबसे बड़े दुश्मन हैं । जिसकी वजह से वह विजाग छोड़कर हैदराबाद चला आता है। धीरे धीरे उसके जीवन में दोस्त आते हैं और फिर प्यार अमृता आती है जिनकी वजह से वह रिश्तों का मूल्य समझता है।

Movienurture:IIT Krishnamurthy

IIT Krishnamurthy (ఐఐటి కృష్ణమూర్తి ) –  IIT कृष्णमूर्ति तेलुगु फिल्म 10 दिसम्बर 2020 को रिलीज़ हुयी और इसका निर्देशन किया है SreeVardhan ने। यह एक थ्रिलर फिल्म है और इसका लेखन बहुत ही शानदार किया गया है। अभिनय की बात करें तो प्रत्यु दंदमुडी और विनय वर्मा ने बेहद उम्दा अदाकारी की है और कोई भी क्षण आप इस फिल्म का छोड़ना नहीं चाहेंगे। 

फिल्म की कहानी शुरू होती है कृष्णमूर्ति मुंबई के एक आईआईटी पोस्ट-ग्रेजुएट से , जो अपने लापता चाचा को खोजने के लिए हैदराबाद जाता है।मगर पुलिस में रिपोर्ट लिखवाने के बाद भी वह पुलिस पर भरोसा ही नहीं कर पता और उसको यह लगता है कि पुलिस उस तरह से नहीं सर्च कर रही है जिस तरह से उसे काम करना चाहिए। वहीँ पर यह केस एसीपी विनय वर्मा के पास आता है, वह एक सख्त, ईमानदार और अहंकारी पुलिस वाला हैं। विनय अपनी तरह से इन्वेस्टीगेशन करता है और कृष्णमूर्ति अपनी तरह से चाचा को ढूंढने का प्रयास। इस चक्कर में दोनों एक दूसरे से टकराते हैं और एक दूसरे के लिए परेशानी पैदा करते रहते हैं। अब यह देखना होगा कि पहले कौन चाचा को ढूंढता है और किस तरीके से।

Spread the love
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *