Movie Nurture: Jeevan Naiya

Jeevan Naiya جیون نیا۔ :अशोक कुमार के फ़िल्मी सफर की शुरुवात

जीवन नैया 1930 दशक की एक प्रसिद्ध फिल्म, जिसका निर्माण हिमांशु राय ने अपने स्टूडियो बॉम्बे टॉकीज़ के लिए किया था और इसके निर्देशन के लिए फ्रांज ओस्टेन को चुना गया था। यह फिल्म भारतीय सिनेमा में 2 जून 1936 को रिलीज़ हुयी थी। अशोक कुमार ने अपने फ़िल्मी सफर की शुरुवात इसी फिल्म से […]

Continue Reading
Movienurture :- Meena Kumari

Pakeezah – मासूम मोहब्बत की कहानी।

भारतीय सिनेमा ने पूरी दुनिया में अपना एक अलग ही रुतबा कायम किया हुआ है। हर दशक में कलाकारों ने अपनी अदाकारी से एक नया आयाम प्रस्तुत किया है।  हम समीक्षा करेंगे एक ऐसी ही अद्भुत फिल्म की, जिसने हिंदी सिनेमा को एक नयी सोच दी…… पाकीज़ा,  कभी ना कभी इस फिल्म का नाम सभी ने सुना […]

Continue Reading

Ek Hi Raasta – एक सुपर हिट पारिवारिक फिल्म

“एक ही रास्ता ” एक बॉलीवुड क्लासिक फिल्म है जो 13 अप्रैल 1956 को भारतीय सिनेमा में रिलीज़ हुयी थी। यह एक सुपर हिट पारिवारिक फिल्म है।  इस फिल्म के निर्माता और निर्देशक दोनों ही बी आर चोपड़ा है। इस फिल्म का तेलुगु में रीमेक बना “कुमकुम रेखा ” के नाम से और यह रिलीज़ […]

Continue Reading

Chalti ka Naam Gadi – एक लड़की भीगी – भागी सी, रातों में सोई जागी सी

चलती का नाम गाड़ी एक ऐसी फिल्म है जो आज भी सभी के द्वारा पसंद की जाती है। यह फिल्म 1 जनवरी 1958  को भारतीय सिनेमा में आयी और आते ही सभी की पसंदीदा फिल्म बन गयी। इस  निर्देशन सत्येन बोस  ने किया था। यह एक बेहद प्रसिद्ध क्लासिक कॉमेडी हिंदी फिल्म है और इस […]

Continue Reading

Kanoon – एक बेगुनाह को बचाने की कोशिश

कानून हिंदी सुपरहिट फिल्म  मृत्युदण्ड जैसे कानून की और हमें यह सोचने ने लिए मज़बूर करती है कि अगर गवाह झूठे हो तो किसी भी बेगुनाह को अपने जीवन से हाथ धोना पड़ जाता है मृत्युदण्ड पाकर। यह फिल्म 1 जनवरी 1960 में रिलीज़ हुयी थी और इसका निर्देशन बी आर चोपड़ा ने किया था। […]

Continue Reading

Ashok kumar – भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध दादामोनी

अशोक कुमार को दादामोनी नाम से भी जाना जाता है और वह एक ऐसे एक भारतीय फिल्म अभिनेता थे, जिन्होंने भारतीय सिनेमा में प्रतिष्ठित दर्जा प्राप्त किया और भारत सरकार द्वारा सिनेमा कलाकारों के लिए सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार दादा साहब फाल्के पुरस्कार के साथ उन्हें 1988 में सम्मानित किया गया था और भारतीय सिनेमा में […]

Continue Reading